Recents in Beach

नादबिन्दुपनिषद का सम्पूर्ण परिचय | Naad Bindu Upanishad in Hindi | नादबिन्दुपनिषद परिचय

नादबिन्दुपनिषद् का परिचय

नादबिन्दुपनिषद् ऋग्वेद से सम्बंधित उपनिषद् माना जाता है। इस उपनिषद् में नाद के अनुसन्धान को दर्शाया गया है इसलिए इसे नादबिन्दुपनिषद् कहा जाता है। उपनिषद क्या हैं इस विषय में हम पूर्व में ही जान चुके हैं। इस उपनिषद् के प्रारम्भ में 'ॐकार' को हंस का रूप मानकर उसके विभिन्न अंगोपांगों का वर्णन किया गया है। इसके पश्चात् ॐकार की 12 मात्राओं का वर्णन किया गया है। ॐकार की मात्राओं का वर्णन करने के बाद उन मात्राओं के साथ प्राणों के विनियोग का फल बताया गया है।

Nadabindu-Upanishad

नादबिन्दुपनिषद् का सम्पूर्ण परिचय विडियो देखें

तत्पश्चात् योगयुक्त साधक की स्थिति तथा ज्ञानी के प्रारब्ध कर्मों के क्षय का वर्णन करते हुए नाद के अनेक प्रकार तथा नादानुसंधान साधना का स्वरूप समझाया गया है। उपनिषद् के अंत में मन के प्रभावित होने, मन के लय होने तथा मनोलय की स्थिति का वर्णन किया गया है। नादबिन्दुपनिषद का परिचय इस प्रकार से प्राप्त होता है।

 आप योग विषयक किसी भी वीडियो को देखने के लिए चैनल पर जा सकते हैं- क्लिक करें साथ ही योग के किसी भी एग्जाम की तैयारी के लिए योग के बुक स्टोर पर जाएं- क्लिक करें

Post a Comment

0 Comments